Dev Bhoomi Seva to fight COVID-19 – Blog – ValueFirst

Dev Bhoomi Seva to fight COVID-19

With Surbo we created Dev Bhoomi Seva (a chatbot solution to fight COVID-19) for Uttarakhand Congress Committee.

Here’s the press release:

प्रकाशनार्थ
देहरादून 22 अप्रैलः
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विशेष आमंत्रित सदस्य श्री मनीष खण्डूरी द्वारा प्रदेश कार्यालय देहरादून में पत्रकारों से रू-ब-रू होते हुए कोरोना महामारी में देश एवं प्रदेशभर से जरूरतमंदों की जानकारी एकत्र करने के साथ ही लाॅक डाउन के चलते प्रदेश के बाहर फंसे लोगों तक आवश्यक मदद पहुंचाने के उद्देश्य से ’ValueFirst संस्था के सहयोग से मनीष खण्डूरी द्वारा निर्मित “देव भूमि सेवा app” https://bot.surbo.io/web-bot/5e9d850c5f637508c9f67fc7 को कांग्रेस संघटन के माध्यम से प्रदेश/ देश को समर्पित किया गया। कांग्रेस पार्टी द्वारा देवभूमि सेवा ऐप की टैक्नाॅलोजी के माध्यम से उत्तराखण्ड प्रदेश के जरूरतमंदों की जानकारी एकत्र करने के साथ ही प्रदेश के बाहर रहने वालों को भी आवश्यक मदद पहुंचाई जायेगी। साथ ही प्राप्त जानकारी से राज्य सरकार व शासन प्रशासन को अवगत कराया जायेगा।
पत्रकारों से मुखातिब होते हुए प्रदेश अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह एवं कांग्रेस नेता श्री मनीष खण्डूरी ने ‘देवभूमि सेवा एप’ की विषेशताओं को बताते हुए कहा कि देवभूमि सेवा ऐप से सम्बन्धित जरूरतमंत्र की पूरी जानकारी उपलब्ध हो सकेगी तथा उन्हें होने वाली दिक्कतों के बारे में जानकारी मिल सकेगी। ‘देवभूमि सेवा एप’ प्रदेश के कई लोग जिनमें छात्र एवं मजदूर लाॅक डाउन के चलते अन्य प्रदेशों में फंसे हुए हैं तथा उन्हें कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, ऐसे लोगों की जानकारी एकत्र करने तथा जरूरतमंदों तक सहायता पहुंचाने में मददगार साबित होगा। उन्होंने यह भी कहा कि देवभूमि सेवा ऐप के माध्यम से जुटाई गई जानकारी राज्य सरकार एवं शासन प्रशासन के साथ साझा कर आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया जायेगा।
कांग्र्रेस नेताओं ने कहा कि पर्वतीय जनपदों से बडी संख्या में पलायन करने वाले अधिकतर नौजवान देश के औद्योगिक क्षेत्रों एवं होटलों में सेवारत हैं। कोरोना महामारी के चलते लगाये गये लाॅक डाउन के कारण वे सभी बेरोजगारी की स्थिति में हैं तथा उनके सामने खाने-पीने के सामान तथा बीमारी से बचाव के लिए आवश्यक सामग्री का संकट खड़ा हो गया है जिससे वे अपने आपको असहाय महसूस कर रहे हैं। इसी के साथ कई राज्यों में राज्यभर के छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं तथा शिक्षण संस्थानों के बंद होने के बावजूद भी वे अपने घर वापस नहीं आ पा रहे हैं।
श्री प्रीतम सिह ने कहा कि भारत सरकार द्वारा लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर पूर्व में 14 अप्रैल, 2020 तक 21 दिवसीय लाॅक डाउन की घोषणा की गई थी तथा इसी को देखते हुए इन लोगों द्वारा किसी प्रकार अपने को सुरक्षित रखते हुए जीवन यापन के साधन जुटाये थे तथा इन्हें उम्मीद थी कि सरकार द्वारा 14 अपै्रल, 2020 को लाॅक डाउन की समाप्ति पर वे अपने घर वापस जा सकेंगे, परन्तु लाॅक डाउन की तिथि 3 मई तक बढ़ने से इन लोगों को भारी निराशा हुई है तथा वे अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। कंाग्रेस पार्टी द्वारा ऐसे ही जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए देवभूमि सेवा ऐप लाॅच कर उनका सहायता का प्रयास किया जा रहा है।

प्रकाश रतूड़ी
विशेष कार्याधिकारी
उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी